Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » जीवनशैली और रहन-सहन » मनोचिकित्सक का क्या होता है काम, ऑनलाइन परामर्श से कैसे करते हैं हमारी मदद

मनोचिकित्सक का क्या होता है काम, ऑनलाइन परामर्श से कैसे करते हैं हमारी मदद

  • द्वारा
मनोचिकित्सक

किसके जीवन में परेशानियां नहीं आती है लेकिन हमें इन परेशानियों से भागने के बजाय लड़ना चाहिए। ऐसा करने से हमें आगे बढ़ने में मदद मिलती है। अक्सर ही हम शारीरिक समस्याओं को लेकर विशेषज्ञों से मिलने जाते हैं लेकिन वहीं अगर बात मानसिक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की आती है तो हर कोई इसे हल्के में ले लेता है। पर आज हम आपको मानसिक चिकित्सा के बारे में कुछ अहम जानकारी देने जा रहे हैं जिसे जानकार आपको भी इसकी महत्वता समझ आ जाएगी।

मानसिक चिकित्सा क्या है ?

सबसे पहले तो ये जानना जरूरी है कि आखिर मानसिक चिकित्सा है क्या ? इसके अंतर्गत चिंता, डिप्रेशन आदि जैसे मानसिक विकार आते हैं। बता दें कि यह चिकित्सा के क्षेत्र में वो विभाग है जिसमें मानसिक समस्याओं का निदान किया जाता है। इसमें मानसिक इलाज के दौरान रोगी बेहतर महसूस करते हैं। मनोवैज्ञानिक विशेषज्ञ जिसे मनोचिकित्सक/साइकाइट्रिस्ट भी कहते हैं। खासबात तो यह है कि मानसिक चिकित्सा के दौरान मनोचिकत्सक इलाज के दौरान रोगी का व्यवहार, सोचने का तरीका और उसके रवैये को परखने और समझने की कोशिश करते हैं।

यह भी पढ़ें : चिंता और डिप्रेशन: क्या है इनके बीच का अंतर, कैसे बचें इससे?

मनोचिकित्सक का काम ?

मनोचिकित्सक मानसिक विकारों के विशेषज्ञ डॉक्टर होते हैं। ये मनोरोगियों के इलाज के दौरान थैरेपी के साथ साथ कुछ दवाईयों का भी प्रयोग करते हैं। यही नहीं कई बार तो आवश्यकता पड़ने पर ये कुछ साइकोलॉजिकल और लैब टैस्ट भी करवाते हैं। मनोचिकित्सक एक मरीज़ के भावनात्मक रूप को समझने की कोशिश करते हैं। मानसिक रोगों का इलाज मुमकिन है, लेकिन ज़रूरत है की मानसिक रोग से परेशान व्यक्ति को समझने की कोशिश की जाए।

मनोचिकित्सक से कब करें संपर्क ?

वैसे ये एक बड़ा सवाल है क्योंकि मनोरोगियों को शुरूआत में अपनी बीमारी का पता ही नहीं चल पाता है जिसकी वजह से उनकी मानसिक स्थिति काफी ज्यादा डिस्टर्ब हो जाती है। हालांकि बाइपोलर मूड स्विंग्स और आत्महत्या के विचारों जैसे मामलों में एक मनोचिकित्सक से सलाह करना ज़रूरी है। कई बार लोग अपनी मानसिक समस्याओं से लड़ने के लिए नशे की लत लगा लेते हैं। वैसे आपको बता दें कि मनोचिकित्सक की मदद से नशे की इन लतों से छुटकारा पाया जा सकता है। गुस्से, तनाव, डिप्रेशन, चिड़चिड़ापन आदि के संबंध में भी एक मनोचिकित्सक से परामर्श लिया जा सकता है।

मनोचिकित्सक करते हैं इनका इलाज

कुछ लोगों को इस बात की भी जानकारी नहीं होती है कि एक मनोचिकित्सक किन किन रोगों का इलाज कर सकता है तो बता दें कि डिप्रेशन, तनाव, चिंता, अकेलापन, अवसाद के अलावा अन्य कई गुस्सा या फिर नींद न आने की समस्या का उपचार करते हैं। अगर आपको लगता है की आपके किसी करीबी को इनमें से कोई भी एक समस्या है तो उन्हें तो तुरंत एक मनोचिकित्सक से परामर्श करें।

यह भी पढ़ें : जीवन की उलझनों से निकलने के लिए बेहतर विकल्प दिखाते हैं मनोवैज्ञानिक काउंसलर

ऑनलाइन ले सकते हैं परामर्श

यह बात तो हम सभी जानते हैं कि हमारे समाज में मानसिक रोग को पागलपन का नाम दे दिया जाता है जिसकी वजह से लोग अपनी मानसिक बीमारियों को लेकर खुलकर बात नहीं कर पाते हैं। ऐसे में आपके लिए एक अच्छा विकल्प है ऑनलाइन परामर्श। जो कि सही और बेहतर तरीका है, ताकि आपकी पहचान गुप्त रह सके और किसी को इस बारे में पता भी न चले। ऑनलाइन मनोचिकित्सक से परामर्श करना एक सही निर्णय है।

लब्धी शाह से करें संपर्क

Spark.Live पर मौजूद मोचिकित्सक परामर्शदाता लब्धी शाह से संपर्क कर सकते हैं। आज के समय में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो तनाव से न जूझ रहा हो, हर तरफ तनाव है और ये जल्द खत्म भी नहीं होता है। यही कारण है कि अत्यधिक तनाव, चिंता, अवसाद, दूसरों के साथ संघर्ष, आक्रामकता, नींद की कठिनाइयों, अव्यवस्थित खाने और यहां तक ​​कि पीटीएसडी जैसी मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को उत्पन्न करता है। मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल के लिए लब्धी शाह का मानना है कि यह समय एक प्रयास करने का है जो लोग चिकित्सा करते हैं, वे अपने जीवन में पहली बार ऐसा कर रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *