Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » कल्याण और आध्यात्मिकता » Pitra Dosha: क्या होता है पितृ दोष, जानें उसके लक्षण व निवारण ? |What is Pitra dosha, know its symptoms and prevention?

Pitra Dosha: क्या होता है पितृ दोष, जानें उसके लक्षण व निवारण ? |What is Pitra dosha, know its symptoms and prevention?

  • द्वारा
पितृ दोष

पितृपक्ष का समय चल रहा है, ये माह हिंदू धर्म के लिए बेहद ही ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। लेकिन क्या आपको पता है पितृपक्ष में सबसे ज्यादा डर पितृदोष का होता है। अब आप ये सोच रहे होंगे कि पितृ दोष होता क्या है ? इसके लगने से क्या परेशानियां आती हैं ? पितृ दोष के लक्षण और निवारण के कुछ अचूक उपाय ?

क्या होता है पितृ दोष ?

जी हां शास्त्रों की मानें तो पूर्वजों द्वारा किए गए कर्मों का फल आने वाली पीढ़ियों को भी मिलता है। जैसे कि इसे आप ऐसे समझ सकते हैं कि अगर कोई पिता कर्ज लिया हो और वो उसे बिना चुकाए इस संसार से चला जाता है तो उसके संतान को वो कर्ज का भुगतान करना पड़ता है। उसी प्रकार यदि पूर्वज अपने जीवन में बुरे कर्मों को कर के चले जाते है तो उसका फल आने वाली पीड़ियों को भोगना पड़ता है। यह तब तक झेलना पड़ता है जब तक की आनी वाली पीढ़ियां पूर्वजो द्वारा किए गए बुरे कर्मों का निवारण न करवाएं। उनकी मुक्ति के लिए श्राद्ध कर्म करने का विधान है। इसे भी अगर विधि-पूर्वक न किया जाए तो जातक पितृ दोष से ग्रस्त हो सकता है।

यह भी पढ़ें : सुदर्शन चक्र: कैसे हुई भगवान विष्णु को चक्र प्राप्ति ?(Sudarshan Chakra: How did Lord Vishnu attain the Chakra?)

पितृ दोष के लक्षण

सबसे पहले बात करेंगे पितृ दोष के लक्षण की जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं…

सबसे पहला लक्षण ये है कि जिन लोगों के जीवन में पितृ दोष लग जाता है उनकों संतान होने में भी समस्याएं आती है और अगर संतान का जन्म होता भी है तो वो अधिक समय तक जीवित नहीं रहता।

बात करें दूसरे लक्षण की घर-परिवार के अंदर कोई न कोई व्यक्ति को किसी से या तो अंदर ही अंदर झगड़ा होता रहता है और घर में परिवार के व्यक्ति के साथ मन-मुटाव होते रहता है।

वहीं अगर किसी को पितृदोष होता है तो घर में से कोई न कोई एक सदस्य हमेशा अगर बीमार रहता है तो उनको बीमारी से जल्दी निजात नहीं मिलता है।

अगर किसी लड़की के जीवन में पितृदोष होता है तो उसके विवाह में भी परेशानियां आती है या फिर उसे उसका मनचाहा वर नहीं मिलता है।

पितृदोष के कारण धन का भी आभाव रहता है या तो बार बार धन की हानि होती रहती है। शास्त्रों में यह बताया गया है कि जिन परिवार के लोग पितरों की पूजा और श्राद्ध नहीं करते हैं, उन्हें भी पितृदोष लगता है।

यह भी पढ़ें : पितृ पक्ष 2020 : कौए का कौन सा संकेत होता है शुभ व अशुभ?| Pitra paksha 2020: Know which sign of crow is auspicious and inauspicious

पितृदोष के निवारण के अचूक उपाय ?

पितृदोष को दूर करने के लिए सबसे अचूक उपाय में से एक है कि अगर आप किसी भी अमावस्या, पूर्णिमा या पितृ पक्ष में श्राद्ध कर्म किया जा सकता है। ऐसा करने से पितृ तृप्त होकर हमें आगे बढ़ने का आशीर्वाद देते हैं और सफलता के लिए आसान रास्ता बनाते हैं। वहीं ध्यान रहे कि पितृ पक्ष के दौरान गाय की सेवा करें ऐसा करने से भी दोष दूर हो जाता है। इसके लिए किसी भी गरीब व्यक्ति की गाय की एक साल तक सेवा करने का संकल्प लें। चिंड़ियों को बाजरे के दाने डालें और कौवों को भी रोटी डालें।

Spark.live पर मौजूद पंडित दयानंद शास्त्री से संपर्क करने के लिए यहां क्लिक करें

वास्तुदोष, गृह क्लेश या पूजा पाठ संबंधी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो Spark.live पर मौजूद पंडित दयानन्द शास्त्री हैं, जो कि वास्तु शास्त्र में महारथ हासिल है। इसके अलावा घर में रहने वाली नकारात्मक शक्तियों को वास्तु शास्त्र विशेषज्ञ पंडित दयानन्द शास्त्री से परामर्श ले सकते हैं।

संदर्भ लेख : Shradh 2019: जानिए क्या होता है पितृदोष और इससे जुड़ी परेशानियां

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *