Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » क्या है योग के चिकित्सीय प्रभाव, शरीर पर कितना करता है असर ?

क्या है योग के चिकित्सीय प्रभाव, शरीर पर कितना करता है असर ?

  • द्वारा
effect of yoga therapy

आज के समय में ये तो हर कोई समझ गया है कि योग हमारे जीवन में कितना महत्व रखता है और योग के चिकित्सीय प्रभाव भी काफी लाभदायक होते हैं। कोरोना काल ने लोगों की जीवनशैली तो जरूर बदलकर रख दी है लेकिन इसके साथ ही साथ कुछ अच्छी आदतों का भी आभास करा रही है। जिनमें योग सबसे अहम है। हालांकि ये बात सच है कि आज से 50 साल पहले से ही योग का अध्ययन-अध्यापन ऋषियों तथा महर्षियों द्वारा किया जाता था लेकिन आधुनिक समय के साथ-साथ लोगों के पास योग धीरे-धीरे दूर होता गया।

पर पिछले कुछ समय से लोग योग को लेकर जागरूक होने लगे हैं। पीएम मोदी ने भी योग के प्रति काफी जागरूकता फैलाई, जिसका असर देश ही नहीं बल्कि दुनियाभर में देखने को मिल रहा है। आज के समय में लोग अंतराष्ट्रीय योगा दिवस भी मनाने लगे हैं। योग हमारे जीवन का वो महत्वपूर्ण हिस्सा है जो हमारे मानसिक और शारीरिक रोग मिटाने में लाभदाय सिद्ध हो रहा है। अगर हम नियमित रूप से योग करते हैं तो सबसे पहले हम शारीरिक रूप से स्वस्थ रहते हैं जिसकी वजह से हमारा मन और मस्तिष्क भी ऊर्जावान बनता है।

इन सभी के स्वस्थ होने पर आत्मिक सुख की प्राप्ति होती है जिसकी वजह से हम अपने जीवन में खुशी और सफलता का अनुभव कर पाते है। हालांकि ये तो बेसिक बातें हो गईं, सवाल ये हैं कि आखिर योग चिकित्सीय प्रभाव (yoga therapy) हमें कितना प्रभावित करता हैं ? और इसे जीवन में अपनाना किस हद तक जरूरी है? इन सभी सवालों के जवाब हम आज इस लेख के जरिए विस्तृत रूप से देने जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें :लॉकडाउन में तेजी से क्यों बढ़ रहा है योग का ट्रेंड

योग में कई सारे आसन होते हैं जिसके जरिए कई बीमारियों का इलाज संभव है लेकिन यह भी सच है कि कोई भी योगासन का सिर्फ करने भर से काम नहीं बनेगा। हमें उन्हें सही तरीके से करना होगा। जो लोग घर में योग की शुरूआत करना चाहते हैं उनके लिए ये थोड़ा मुश्किल हो जाता है इसलिए कोशिश करें कि शुरूआत में किसी योग शिक्षक की सहायता लें इसके बाद आप लगातार खुद भी योग कर सकते हैं।

वैसे योग के चिकित्सीय प्रभाव कुछ कम नहीं है, योग के आसनों द्वारा कोई सा भी रोग दूर किया जा सकता है। किसी भी व्यक्ति को रोगी बनाकर जल्दी ही मृत्यु की ओर धकेलने वाले शारीरिक मल और जहर को दूर कर योग एक स्वस्थ और शक्तिशाली जीवन प्रदान करता है। इतना ही नहीं ये इंसान की काया को सुंदर और कांतिमय बनाता है इसीलिए योग चिकित्सा का महत्व बढ़ा है।

तो आइए जानते हैं योग के चिकित्सीय प्रभाव

1. हड्डियां : सबसे पहले तो बात करेंगे रीढ़ की हड्डियों की, क्योंकि शरीर में ये बेहद महत्वपूर्ण हड्डी मानी जाती है। इसी पर हमारे शरीर की बाकि की हड्डियां भी जुड़ी होती है। कहा जाता है कि अगर हम अपनी दिनचर्या में योग को शामिल कर लेते हैं तो रीढ़ की हड्डी लचीली और मजबूत हो जाती है जिसके कारण व्यक्ति को जल्दी बुढ़ापा नहीं आता और हाथ व पैरों की हड्डियां भी लचकदार बनी रहती है जिसके कारण छोटी-मोटी जगह से गिरने या छुटपुट दुर्घटना होने से फ्रेक्चर के आसार कम बने रहते हैं।

2. मांसपेशियां : हड्डियों के साथ साथ योगासन करने से मांसपेशियां भी मजबूत बनती है। मांसपेशियों के मजबूत होने से कमजोर व्यक्ति भी अंदर से हष्ट-पुष्ट महसूस करने लगता है, जैसे कि कुछ लोग दुबले पतले होकर भी काफी ताकतवर होते हैं मांसपेशियों के मजबूत होने से भीतरी अंगों को ताकत मिलती है और नसें भी दुरुस्त होती है।

3. नसें बनेंगी लचीली: योग के आसनों को करने से रक्त वाहिनियां भी लचीली बनी रहती है जिसकी वजह से हृदय तक आसानी से रक्त पहुंचता है और वो काफी स्वस्थ बना रहता है। इस आसन से रक्त भी साफ बना रहता है, रक्त वाहिनियों के अलावा अन्य प्रकार की नाड़ियां और धमनियां भी मजबूत रहकर फेंफड़ों, मस्तिष्क और आंख स्वस्थ रहते हैं।

यह भी पढ़ें : योग और चेतना : जानें कैसे बदल जाती है आपकी दुनिया?

4. भीतरी अंग पर असर : शरीर के भीतरी अंगों पर भी योग करने से प्रभाव होता है, लगातार योगासनों को करने से शरीर के भीतरी अंगों में जमा मल और जहर बाहर निकलता है जिससे कि वह पुन: सुचारू रूप से कार्य करने लगते हैं। इसकी वजह से वो लंबे समय तक स्वस्थ बने रहते हैं।

5. बाहरी अंग : शरीर अगर भीतर से स्वस्थ रहेगा वो बाहरी अंग भी ताकतवर बनेगा, इसके कारण बाहरी अंगों और चमड़ी को भी लाभ मिलेगा। संपूर्ण देह कांतिमय, सुंदर और स्वस्थ नजर आएगी। आसनों के द्वारा शरीर को एक सुंदर शेप दिया जा सकता है।

योग से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए आज हमारे योग विशेषज्ञ अन्नू वी पी से संपर्क कर सकते है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *