Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » प्यार और रिश्ता » एक रिश्ते में सीमाएं निर्धारित करना (Setting Boundaries in a Relationship)

एक रिश्ते में सीमाएं निर्धारित करना (Setting Boundaries in a Relationship)

Setting Boundaries in a relationship

इस बात को लेकर बहुत ग़लतफ़हमी है की रिश्तों के लिए क्या सीमाएँ हैं और क्या नहीं हैं। हमें ऐसा लगता है कि सीमाएं अनावश्यक हैं क्योंकि हम मानते हैं की हमारे पार्टनर को हमारी जरूरतों और इच्छाओं के बारे में जानना चाहिए, या यह कि सीमाएं रिश्ते को बर्बाद कर देती हैं। वास्तव में, सभी स्वस्थ रिश्तों की सीमाएँ होती हैं! एक रिश्ता तब तक स्वस्थ नहीं हो सकता जब तक दोनों पार्टनर अपनी सीमाओं को स्पष्ट रूप से नहीं समझते या एक दूसरे को नहीं बताते और हैं एक दूर की सीमाओं का सम्मान करना चाहिए। किसी रिश्ते में स्वस्थ सीमाएँ स्वाभाविक रूप से नहीं आती हैं, न ही वे आसानी से आती हैं।

एक रिश्ते में स्वस्थ सीमाओं की वजह से दोनों पार्टनर सहज महसूस करते हैं और सकारात्मक आत्म-सम्मान विकसित होता है। सीमाओं को स्थापित करने के लिए, आपको अपने साथी के साथ स्पष्ट होना चाहिए, यानी जैसे आप हैं, जो आप चाहते हैं, आपकी मान्यताएं और मूल्य। बहुत बार, हम दूसरों को समायोजित करने पर ध्यान केंद्रित करते हैं, खुद पर ध्यान केंद्रित करने से समय निकालते हैं। अपने लिए सीमाएँ निर्धारित करना यह दर्शाते हैं कि आप कौन हैं और आप आखिरकार किसके साथ संबंध स्थापित करना चाहते हैं।

Also Read – कैसे रोकें उन्हें ओवर एनालाइज़ करना (How To Stop Over-Analyzing Him)

हमारी सीमाएँ, चाहे वे बड़ी हों या छोटी, महत्वपूर्ण होती हैं और उनका सम्मान करना चाहिए।

गर आपके साथी ने आपको स्पष्ट रूप से कहा की की आप उनके किसी भी सामान को छुएं या उनसे पूछे बिना न छुएं तो आपको इस बात का ख़याल रखना होगा।

आपके पार्टनर को कौन फोन करता है यह सवाल पूछ कर उन्हें परेशान न करें।

अगर आप अपने दोस्तों के साथ कहीं जा रहे हैं तो आपका पार्टनर आपसे सवाल पूछ कर शक न करे।

भले ही सीमा बड़ी या छोटी हो या सीमा का उल्लंघन हो, कोई भी अपनी सीमा को नजरअंदाज या अनादर करना पसंद नहीं करता है। यदि आप अपनी खुद की सीमाओं को तोड़ते हैं क्योंकि आप अपने साथी की प्रतिक्रिया से डरते हैं, तो यह ग़लत है। एक स्वस्थ रिश्ते में, आपको कभी भी अपने साथी या उनकी प्रतिक्रियाओं से डरना नहीं चाहिए।

Also Read – महिलाओं को अन्य पुरुषों को डेट क्यों करना चाहिए (Why Women Should Date Other Men)

एक दूसरे के साथ अपने विचारों को बातें, उनके साथ ईमानदार रहें।

अपने पार्टनर के विचारों और भावनाओं को शेयर करते समय सम्मान दें।

कोई एक धारणा बनाने से रिश्ते में बहुत सी गलतफहमियां पैदा हो सकती हैं। आपको ऐसा लगता होगा कि आप अपने साथी को अच्छी तरह से जानते हैं और महसूस करते हैं कि आप उनसे क्या चाहते हैं या उन्हें बिना मांगे मान सकते हैं, लेकिन यह उनसे पूछना सबसे अच्छा होता है।

आप जो कहते हैं, उस पर चलें। सीमाओं को निर्धारित करना और उन्हें निष्पादित नहीं करना आपके पार्टनर को ग़लत लग सकता है।

अपने कार्यों की जवाबदेही लें।

जानें कि कब आगे बढ़ना है आप केवल इस बात को साझा कर सकते हैं कि आप रिश्ते में किस तरह का व्यवहार करना चाहते हैं, और आप अपने साथी की भावनाओं के लिए जिम्मेदार नहीं हो सकते। सभी को सम्मान और निष्पक्षता के साथ व्यवहार करने का अधिकार है।

Also Read – कैसे विश करें अपने एक्स को बर्थडे? (How to Wish Your ex a Birthday?)

स्वस्थ सीमाओं को स्थापित करना करना एक कौशल है, और इसमें समय लगता है! याद रखें, स्वस्थ सीमाएं आसान नहीं हैं, लेकिन यदि आप अपनी प्रवृत्ति पर भरोसा करते हैं, तो अपने साथी के साथ अभ्यास करें, संबंध समय के साथ मजबूत हो जाएगा।

“एक रिश्ते में सीमाएं निर्धारित करना (Setting Boundaries in a Relationship)” पर 1 विचार

  1. पिंगबेक: कैसे रोकें उन्हें ओवर एनालाइज़ करना (How To Stop Over-Analyzing Him)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *