Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » सिजोफ्रेनिया: जानिए इसके कारण, लक्षण, प्रकार व इलाज| Schizophrenia: Know its causes, symptoms, types and treatment

सिजोफ्रेनिया: जानिए इसके कारण, लक्षण, प्रकार व इलाज| Schizophrenia: Know its causes, symptoms, types and treatment

  • द्वारा
मानिसक स्वास्थ की जब बात आती है तो ऐसी कई बीमारियां है जिनके बारे में कुछ लोग जानते हैं लेकिन कुछ लोग नहीं भी जानते हैं। ऐसे में वो ये समझ नहीं पाते हैं कि उन्हें कौन सी बीमारी है, इसमें आपकी मदद करता है एक मनोचिकित्सक या फिर मनोवैज्ञानिक। आज हम आपको एक ऐसे मानसिक विकार के बारे में बात कर रहे हैं जिसका नाम आपने जरूर सुना होगा लेकिन उसके बारे में पूरी तरह से नहीं जानते होंगे, दरअसल हम बात कर रहे हैं सिजोफ्रेनिया की। सिजोफ्रेनिया एक मानसिक बीमारी है। लेकिन इसका असर मरीज से आगे बढ़कर परिवार, दोस्तों और समाज तक भी हो सकता है।

सिजोफ्रेनिया एक ऐसी बीमारी है जो अधिकतर 16 से 30 वर्ष के लोगों को होती है, सर्वे की मानें तो महिलाओं की अपेक्षा पुरूषों को यह बीमारी कम उम्र में हो सकती है। कई बार तो व्यक्ति इस बीमारी की चपेट में आता है तो उसे पता भी नहीं चल पाता है, लेकिन यह भी सच है कि इस बीमारी के होते ही व्यक्ति तुरंत इसके दलदल में और गहरे धंसता चला जाता है। इस बीमारी में व्यक्ति को किसी के होने व साए का आभास भी होता है, जिसकी वजह से वो अक्सर ही दूसरों पर निर्भर रहने लगती है, इतना ही नहीं वो खुद की देखभाल भी नहीं कर पाते हैं।

अधिकतर केसेज में ऐसा भी देखा गया है कि जो सिजोफ्रेनिया के मरीज होते हैं वो इलाज का विरोध भी करते हैं, वह इस बात को मानने के लिए भी तैयार नहीं होते हैं कि उन्हें कोई समस्या है। कुछ मरीजों में इसके लक्षण साफ तौर पर दिखते हैं जबकि दूसरे मरीजों को देखकर कोई अनुमान नहीं लगाया जा सकता है लेकिन उनसे बातचीत करने पर पर इस बात का पता चल जाता है कि वह वाकई क्या सोचते हैं?

सिजोफ्रेनिया के लक्षण और संकेत

सिजोफ्रेनिया के लक्षण और संकेत बता पाना काफी मुश्किल है क्योंकि इस बीमारी के लक्षण हर व्यक्ति में अलग अलग पाए जाते हैं, इसलिए इसके लक्षण को पहचानने के लिए इसे चार कैटेगरी में बांटा गया है।

यह भी पढ़ें : क्या होता है स्वस्थ आहार, स्वस्थ शरीर के लिए क्यों है इतना जरुरी ?

सकारात्मक लक्षण

पहला लक्षण तो यह है कि इसमें व्यक्ति को किसी के होने का भ्रम या फिर डरावने साए दिखने लगते हैं।

नकारात्मक लक्षण

वहीं बात करें दूसरे लक्षण की तो यह ज्यादार मनुष्य को खुद से ही दूर ले जाते हैं। इन लक्षणों के चरम पर पहुंचने के बाद मरीज के चेहरे पर किसी भी तरह के एक्सप्रेशन नहीं आते हैं। इसके अलावा इंसान अपनी जिंदगी में भी हताश और नाउम्मीद हो जाता है।

संज्ञानात्मक लक्षण

अब बात करते हैं तीसरे प्रकार के लक्षण की जिसमें मरीज की सोचने-समझने की क्षमता के प्रभावित होने से समझे जाते हैं। मरीज की सोच बेहद सकारात्मक या फिर बेहद नकारात्मक होने लगती है। ये मरीज ज्यादा देर तक किसी एक चीज पर ध्यान कें​द्रित नहीं कर पाते हैं।

भावनात्मक लक्षण

ये ज्यादातर नकारात्मक लक्षण होते हैं, जैसे भावनाओं का मर जाना। यानी कि इस बीमारी में मरीज को न तो सुख महसूस होता है न ही दुख की अनुभूति होती है।

सिजोफ्रेनिया के प्रमुख लक्षण इस प्रकार हैं
भ्रम
माया
सोचने में विकार
प्रेरणा की कमी
भावनाओं को जाहिर न कर पाना
समाज से कटकर रहना
बीमारी से बेखबर रहना
संज्ञानात्मक कठिनाइयां

यह भी पढ़ें : पोषण और मानसिक स्वास्थ्य|Nutrition and Mental health

सिजोफ्रेनिया होने के कारण

अब आपके मन में ये भी सवाल आ रहा होगा कि आखिर यह होता क्यों है? विशेषज्ञों की मानें तो किसी भी इंसान को सिजोफ्रेनिया तभी हो सकता है जब जेनेटिक और पर्यावरणीय कारण मिलते हैं। ये स्थिति भी कई बार परिस्थितियों पर निर्भर करती है, लेकिन पर्यावरण अगर इसे प्रभावित करे तो ये समस्या कई गुना तेजी से इंसान को चपेट में ले सकती है। वंशानुगत कारणों से, दिमाग में कैमिकल असंतुलन की वजह से, पारिवारिक रिश्तों की वजह, पर्यावरणीय कारण, तनावपूर्ण अनुभव, ड्रग्स के सेवन ये सभी कारण बन सकते हैं।

सिजोफ्रेनिया का इलाज

हालांकि ये तो आपको भी पता ही होगा कि किसी भी बीमारी का इलाज इस दुनिया में संभव है। सिजोफ्रेनिया को लेकर मनोवैज्ञानिक काउंसलिंग, साइकोथेरेपी और थेरेपी सेशन की मदद लेते हैं। साइकोलॉजिकल काउंसलिंग से सिजोफ्रेनिया के लक्षणों को ठीक करने में मदद मिलती है।

मनोवैज्ञानिक श्रुति पकरासी से संपर्क करें

अगर आप मानसिक रूप से स्वस्थ रहना चाहते हैं और किसी तरह के तनाव या मानसिक विकारों से जूझ रहे हैं तो हमारे नेटवर्क Spark.live पर मौजूद मनोवैज्ञानिक श्रुति पकरासी से संपर्क कर सकते हैं। ये आपके व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुसार सत्र का निर्माण करती है और इससे जल्द परिणामों के मिलने का भी वादा करती है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *