Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » पेलियो डाइट : कब और कितना हो आहार, जानें इसके फायदे और नुकसान

पेलियो डाइट : कब और कितना हो आहार, जानें इसके फायदे और नुकसान

  • द्वारा
Paleo diet

आजकल जिस तरह की लाइफस्टाइल लोग जी रहे हैं इसमें कई लोग शारीरिक रूप से स्वस्थ्य नहीं है। इनमें से हर किसी को कई तरह की समस्याएं भी होती रहती है जिनमें से एक है वजन बढ़ने की समस्या जो कि आम समस्या बन गई है। जब भी बात आती है वजन कम करने की लोग डाइटिंग शुरू कर देते हैं। आजकल कई सारे डाइट भी ट्रेंड में हैं जैसे हाल में कीटो डाइट चलन में अभी से कुछ समय पहले पालियो डाइट चलन में था। ये सभी उन डाइट प्लान में से एक है जो वजन कम करने का काम करते हैं। आज हम विशेषरूप से बात करेंगे पेलियो डाइट की।लेकिन हम आपको यही सलाह देंगे कि किसी भी डाइट को फॉलो करने से पहले अपने डाइटिशियन से जरूर सलाह लें।

क्या है पेलियो डाइट

पेलियो डाइट महंगे डाइट में से एक है इसलिए इसे फॉलो करना हर किसी की बात नहीं है। इसमें मुख्यरूप से नॉनवेज, फल, नट्स और पत्तेदार सब्जियां होती हैं या फिर हम ये भी कह सकते हैं, इस डाइट में आपको वो सभी खाद्य पदार्थों का सेवन करना पड़ता है जो हमारे पूवर्ज करते थें। तभी तो वो बिल्कुल स्लिम फिट, पावरफुल और एक्टिव होते थे। हालांकि इसे फॉलो करना आसान नहीं होता लेकिन इसके बावजूद शरीर को पूर्ण आहार मिलता है ऐसे में शरीर में कमजोरी या अन्य समस्या नहीं होती है।

कहा जाता है कि वो लोग भी यही खाना खाते थे। ये डाइट अधिकतर जिम ट्रेनर्स की सबसे फेवरेट मानी जाती है। यदि कोई भी व्यक्ति किसी ट्रेनर से वजन कम करने की सलाह लेता है, तो वो इसी डाइट के बारे में बताते हुए उबला हुआ खाना और चीनी और नमक का उपयोग न के बराबर करने की सलाह देता है।

यह भी पढ़ें : कीटोजेनिक आहार: आपके स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है कीटो डाइट?

पेलियो डाइट में आती हैं ये चीजें

  • ताजे फल
  • हरी सब्जियां
  • नट्स और सीड्स
  • लीन मीट्स
  • फिश
  • फल और नट्स से बने तेल
  • अंडे

कितना फायदेमंद है पेलियो डाइट

पेलियो डाइट को फॉलो करने के कई सारे स्वास्थ्य लाभ भी होते हैं, जैसे पहला फायदा यह है कि इस डाइट को फोलो करते समय आप अपने प्रोसेस्ड फूड से दूर हो जाते हैं जिससे आप कई सारे साइड इफेक्ट्स से बच जाते हैं। वहीं इस डाइट के दौरान आप किसी भी कैमिकल का सेवन नहीं करते हैं। यह वजन कम करने में सहायक तो होता ही है इसके साथ ही इसे फॉलो करने से भूख कम लगता है और दिमाग, मांसपेशियां सभी स्वस्थ्य रहते हैं। इसे फॉलो करने से सेहतमंद खाना खाने की आदत हो जाती है।

यह भी पढ़ें : खुद बनाएं आहार (डाइट) चार्ट और वज़न घटायें स्वस्थ तरीके से Design Your Diet Chart For Healthy Weight Loss

कितना होगा नुकसान

यह बात तो हम सभी जानते ही हैं कि जिस चीज से जितना फायदा होता है उतना ही वो चीज कहीं न कहीं नुकसानदेह भी होता है। पेलियो डाइट के साथ भी कुछ ऐसा ही है। इस डाइट लंबे समय तक फॉलो करने से आपकी एनर्जी बहुत कम हो जाती है, क्योंकि आप उस समय लो कैलोरी डाइट पर होते हैं। वहीं जो लोग लंबे समय तक लो कैलोरी डाइट पर रहते हैं, उन्हें थकान, सुस्ती आदि की समस्या भी हो जाती है। इसमें आपको अनहेल्दी फूड खाने की क्रेविंग बहुत लगती है और यदि आपने एक बार कुछ खा लिया, तो इस डाइट का कोई मतलब नहीं रह जाता।

हालांकि इसके नुकसान सुनने के बाद आप इसे फॉलो करने से पहले सोच में पड़ गए होंगे लेकिन चिंता की कोई बात नहीं है अगर इस डाइट को फॉलो करने से पहले डॉक्टर या डाइटिशन से सलाह लेकर करते हैं तो इससे आपको नुकसान न के बराबर होगा और फायदा ज्यादा होगा। यह डायट सभी को सूट करे यह जरूरी नहीं है। खासतौर पर अगर हेल्थ से जुड़ी कोई परेशानी पहले से है तो इसे खुद से फॉलो करने से बचें। वहीं हम बार बार कहेंगे कि इसे फॉलो करने से पहले डाइटिशियन सोनाली मलिक से अवश्य सलाह लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *