Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » क्या योग चिकित्सा के जरिए संभव है सभी बीमारियों का इलाज ?

क्या योग चिकित्सा के जरिए संभव है सभी बीमारियों का इलाज ?

  • द्वारा
योग चिकित्सा

योग को लेकर तमाम बातें होती हैं, योग सिर्फ एक व्यायाम के तौर पर ही काम नहीं करता, बल्कि आपकी पूरी शारीरिक प्रणाली को फिर से जवान बनाता है, साथ ही आपके भीतर ऐसी जागरूकता भी पैदा करता है कि आप खुद ही ज्यादा खाने से बचने लगते हैं। ये सभी बातें आपने सुनी होंगी। लेकिन इसके बावजूद कई बार हमारे मन में ये सवाल आता है कि योग चिकित्सा के जरिए बीमारियों का इलाज संभव है ?

तो आज आपको इस सवाल का जवाब भी मिल जाएगा। दरअसल पिछले कुछ दश्कों से आधुनिक चिकित्सा विज्ञान की कमियों और सीमाओं के कारण लोगों का ध्यान अन्य चिकित्सा पद्धति की ओर जैसे आयुर्वेद, पारंपरिक चीन चिकित्सा, प्राकृतिक चिकित्सा इत्यादि की ओर ध्यान दिया गया है। इसी क्रम में योग को भी उसके प्रभाव के कारण चिकित्सकीय प्रयोग में लाया जाने लगा है।

योग चिकित्सा व स्वास्थ्य

योग विज्ञान में सेहत का मतलब न तो शरीर से है और न ही मन से, इसमें सेहत का मतलब सिर्फ ऊर्जा के काम करने के तरीके से होता है। जी हां अगर आपका ऊर्जा-शरीर उचित संतुलन और पूर्ण प्रवाह में है, तो आपका स्थूल शरीर और मानसिक शरीर पूरी तरह से स्वस्थ होंगे। इसमें कोई शक नहीं है। ऊर्जा-शरीर को पूर्ण प्रवाह में रखने के लिए किसी तरह की हीलिंग की जरूरत नहीं होती। यह तो अपने मौलिक ऊर्जा-तंत्र में जाकर उसे उचित तरीके से सक्रिय करना है।

यह भी पढ़े : योग चिकित्सा से होते हैं ढ़ेरों लाभ, स्वस्थ शरीर के साथ मिलती ही लंबी आयु

हालांकि ये भी कहा गया है कि योग आसनों द्वारा कई रोगों का इलाज किया जा सकता है, कुछ योग विशेषज्ञों का कहना है कि योग चिकित्सा के जरिए बीमारियों को दूर करना बहुत पुरानी पद्धति है। योग विशेषज्ञों का कहना है कि जितनी भी अन्य चिकित्सा प्रणालियां संसार में हैं, वे सब योग चिकित्सा प्रणाली के बहुत बाद में जन्मी हैं।

शास्त्रों में योग का वर्णन

कहा जाता है कि मानव शरीर में पैदा होने वाली बीमारियों का असंख्यता का अनुमान करके भगवान शंकर ने चौरासी लाख की संख्या में योगासनों की कल्पना की थी। जिसके आधार संसार के वे सभी प्राणी थे जिनकी विभिन्न आकृतियाँ किसी-न-किसी में मानव के लिए हितकर हो सकती थीं और यही वजह थी कि भगवान शंकर ने उन आकृतियों का मानव शरीर की अनुकूलता से तालमेल बिठाकर उस आकार के मानव अवयवों के रोग निवारण के लिए विधान कर दिया।

योग चिकित्सा से स्वास्थ्य रहेगा अच्छा

योग द्वारा सच्चा स्वास्थ्य प्राप्त करना बिलकुल सरल है। अच्छा स्वास्थ्य हर व्यक्ति का जन्मसिद्ध अधिकार है। रोग और शोक तो केवल प्राकृतिक नियमों के उल्लंघन, अज्ञान तथा असावधानी के कारण होते हैं। खुशी और स्वास्थ्य के नियम बिलकुल सरल तथा सहज हैं। केवल अपनी कुछ गलत आदतों को बदलकर योग को अपनी आदत बनाएं। हां लेकिन ये भी सच है कि योग समस्त बीमारियों में उपयोगी अवश्य है, परंतु उनकी मदद से चिकित्सा नहीं की जा सकती है।

इसलिए भ्रम में न रखते हुए यह बात भी मानना होगा कि योग के जरिए आप किसी बीमारी में होने वाले मानसिक तनाव, असंतुलन और शरीर की गड़बड़ियों को सुधारा जा सकता है, जिससे कि रोगी के जीवन की गुणवत्ता में बढ़ोतरी अवश्य हो सकती है परंतु उसकी संपूर्ण चिकित्सा संभव नहीं है क्योंकि योग मूलतः चिकित्सा पद्धति नहीं है।

योग प्रशिक्षक से संपर्क करने के लिए यहां क्लिक करें

योग, आसन, प्राणायाम, व्यायाम सभी को विस्तृत रूप से समझने के लिए आपकी मदद कर सकती है योग प्रशिक्षक हिना पुजारी। ये आपको बताएंगे कि योग के जरिए आप न सिर्फ ग्लैमरस दिख सकते हैं बल्कि अन्य कई लाभ भी होते हैं। योग का अध्ययन व अभ्यास करने के लिए वर्षों भी लग जाते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *