Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » करियर » इंजीनियरिंग कॉलेज में लेना चाहते हैं एडमिशन, तो अपनाएं ये टिप्स|Follow these tips for admission in engineering college

इंजीनियरिंग कॉलेज में लेना चाहते हैं एडमिशन, तो अपनाएं ये टिप्स|Follow these tips for admission in engineering college

  • द्वारा
इंजीनियरिंग
हम सभी करियर की अहमियत को समझते हैं, क्योंकि इस दौरान की गई कोई एक गलती हमें जीवनभर भुगतनी पड़ती है। अगर आपको याद होगा तो पिछले कुछ दिनों से जेईई इंजीनियरिंग की परीक्षा को लेकर काफी चर्चाएं हो रही थी, तमाम विरोधों के बावजूद आखिरकार जेईई की परीक्षा पूरी भी हो गई। अब बारी है छात्रों को एडमिशन लेने की जिसके लिए सही कॉलेज का सेलेक्शन करना बेहद आवश्यक होता है। दरअसल अगर आप जेईई के छात्र होंगे तो आपको पता ही होगा कि कोई उम्मीदवार शीर्ष एनआईटी या आईआईआईटी या फिर कुछ बेहतरीन इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन का सपना देखता है तो उसे जेईई की परीक्षा में अच्छे नंबर लाने होते हैं।

वैसे सरकार ने पिछले साल से छात्रों के लिए एक सुविधा ये कर दी है कि अब वर्ष में दो बार जेईई मेन परीक्षा का आयोजन होता है जिसमें से पहला सत्र जनवरी माह में होता है वहीं दूसरा अप्रैल में। अगर छात्र कड़ी मेहनत कर परीक्षा दे भी देते हैं तो उनके सामने एक और चैलेंज आता है और वो होता है कॉलेज का चुनाव करने का। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स देने जा रहे हैं जिसे अपनाकर आप आसानी से अच्छे इंजीनियरिंग कॉलेज का चुनाव कर सकेंगे! 

यह भी पढ़ें : वर्क फ्रॉम होम: क्यों और कैसे हुआ महत्वपूर्ण? (Work from home: why and how it became important?)

इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन के लिए अपनाएं ये टिप्स

मान्यता की करें जांच

सबसे जरूरी बात तो यह है कि जिस कॉलेज में आप एडमिशन लेना चाहते हैं, उसकी लिस्ट तैयार कर लें और संस्थान सरकारी नियमानुसार अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद्, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से संबंधित तथा किसी तकनीकी संस्था से मान्यता प्राप्त है या नहीं? इसकी जांच करें। आप चाहें तो इसका सत्यापन करने के लिए www.aicte-india.org, www.ugc.ac.in व मान्यता देने वाली यूनिवर्सिटी की वेबसाइट से सहायता ले सकते हैं।

क्या संस्था राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद् द्वारा प्रमाणित की गई है? इसका सत्यापन www.naac.gov.in से कर सकते हैं। इसके अलावा आप अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् हेल्पलाइन नंबर 011-26131576-78, 80 व ईमेल एड्रेस helpdesk1@aicte-india.org विश्वविद्यालय अनुदान आयोग हेल्पलाइन नंबर 011-23604446, 011-23604200 से संपर्क करके अपनी शंका का समाधान कर सकते हैं।

टीचर्स से ले जानकारी

दूसरा इस बात का ध्यान रखें कि आप जिस संस्थान में एडमिशन लेना चाहते हैं उसकी इंजीनियरिंग के क्षेत्र में छवि व प्रतिष्ठा कैसी है? वहीं इसके साथ उस संस्थान के प्रिंसिपल तथा उस शाखा में पढ़ाने वाली फैकल्टी की शैक्षणिक योग्यता क्या है, कहां से पढ़ाई की है? वहां अनुभव क्या है? तथा उनका इंजीनियरिंग के क्षेत्र में रिसर्च पेपर, किताब लेखन, वर्कशॉप तथा सेमिनार के जरिए योगदान क्या है? वहां पढऩे वाले तथा पास हो चुके विद्यार्थियों से विचार-विमर्श करना चाहिए। किसी की कही-सुनी पर भरोसा नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : JEE Main 2020: लास्ट मिनट पर ऐसे करें जेईई मेन परीक्षा की तैयारी (How to prepare for JEE Main exam on last minute)

इंजीनियरिंग कॉलेज में सुविधा शुल्क की जानकारी

अब बात करते हैं सुविधा की जो कि सबसे ज्यादा जरूरी है क्योंकि आपको वहां 4 साल बिताने हैं। अगर आप अपने बच्चे को हॉस्टल में रखना चाहते हैं तो वहां के कमरे, खाने-पीने का स्तर, रहन-सहन एवं साफ-सफाई, अन्य तकनीकी सुविधाएं, रख-रखाव, सुरक्षा तथा मेडिकल सुविधाओं का परिक्षण होना जरूरी है। हालांकि कुछ कॉलेज अलग-अलग सुविधाओं जैसे इंटरनेट, एसी लाइब्रेरी, इंग्लिश क्लासेज, विदेशी भाषा के लिए शुल्क लेते हैं। आपको इन शुल्क की अवधि और बढ़ोतरी के बारे में भी जानकारी प्राप्त करनी चाहिए।

प्लेसमेंट होता है या नहीं

इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप जिस संस्थान में एडमिशन लेने का मन बना रहे हैं उसमें प्लेसमेंट अधिकारियों की शैक्षणिक योग्यता, अनुभव और संस्थान द्वारा बताए गए प्लेसमेंट्स की वास्तविकता की जांच-परख करनी चाहिए। यही नहीं हो सके तो उस संस्थान से पढ़ाई करने के बाद नौकरी लगे बच्चों से भी संवाद करना चाहिए। पता करें कि वहां पर प्रोजेक्ट्स संबंधित गतिविधियां होती हैं या नहीं। इसके लिए किस स्तर की सुविधाएं उपलब्ध हैं?

करियर काउंसलर से करें संपर्क

अगर आप एक बेहतर अभिभावक हैं व अपने बच्चे को उज्जवल भविष्य देना चाहते हैं तो सबसे पहले जरूरत है की आप खुद को बदलें। बच्चे पर दबाव बनाने के बदले उसकी परेशानियों को समझें इसके लिए करियर काउंसलर एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है, जो आपके बच्चे का सही मार्गदर्शन करेगा। हमारे नेटवर्क पर मौजूद अनुभवी करियर काउंसल व मेंटर के रूप में मौजूद हैं शांतनु सिंह। जो न कि आपके बच्चे को पढ़ाई को लेकर सही मार्गदर्शन देंगे बल्कि उसकी रूचियों के अनुसार उसे सही विषय चुनने का निर्णय भी प्रदान करेंगे। शांतनु सिंह बीटेक करने के साथ कोटा में कोचिंग कक्षाओं में शिक्षकों के रूप में भी काम कर चुके हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *