Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » स्वास्थ्य और तंदुस्र्स्ती » बचपन की समस्याओं ने भी आरती वर्मा के आगे घुटने टेक दिए |The difficulties of her youth could not defeat Arati Verma

बचपन की समस्याओं ने भी आरती वर्मा के आगे घुटने टेक दिए |The difficulties of her youth could not defeat Arati Verma

  • द्वारा

आज भले ही जमाना काफी आधुनिक हो गया है लेकिन फिर कई जगहों पर बात जब लड़कियों को काम करने की आती है तो उन्हें काफी कुछ झेलना पड़ता है लड़कों की अपेक्षा। आज हम आपको जिसकी कहानी बताने जा रहे हैं उनकी सक्सेस स्टोरी को पढ़ आपको भी अपने लाइफ में कुछ करने का जज्बा जरूर मिलेगा। इसे पढ़ने के बाद एक बार फिर से आपके अपने अंदर के कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ जाएगा। दरअसल हम बात कर रहे हैं प्रमाणित आहार विशेषज्ञ आरती वर्मा की। जिन्हे बेहद कम उम्र से ही अपनी जिम्मेदारियों का अहसास हो गया और आज वो तमाम कठिनाईयों से जूझते हुए अपनी मंजिल तक पहुंच गई।

आरती वर्मा का बचपन

आरती वर्मा बताती हैं कि उनका बचपन सामान्य नहीं रहा है, दुखों का पहाड़ उनपर तभी टूट गया था जब वो 7 से 8 माह की थी, क्योंकि इस उम्र में ही उनकी मां दुनिया छोड़कर चली गई थी। जब वो 5-6 साल की हुई तो उन्हें थोड़ी बहुत समझ आने लगी थी उस दौरान वो मुंबई में रहती थीं। वो बताती हैं कि आज भी मुझे याद है कि कैसे मेरे पापा काम करके आते थें और खाना बनाकर हमारा पेट भी भरते थें। मेरे पिता ने मेरे लिए बहुत कुछ किया है, जॉब से लेकर परिवार बिना किसी सपोर्ट के हमें बड़ा किया, एक सिंगल पैरेंट होने के बावजूद पापा ने सारी जिम्मेदारियों निभाई और मां की कमी महसूस नहीं होने दी।

दृढ़ निश्चय की पराकाष्ठा हैं आरती वर्मा

मां के न होने के कारण मैं बेहद कम उम्र में ही कुकिंग करना सीख गई। मैं और मेरी बहन को पढ़ाई के साथ साथ घर की देखभाल भी करती होती थी जिसकी वजह से हम दोनों ने काफी कुछ झेला है। क्योंकि एक साथ दोनों चीजें करना इतना आसान नहीं होता। पर इस बात की खुशी है कि मेरे पापा हमेशा ही हमारे साथ खड़े रहे। मुझे नहीं पता वो इतना कुछ कैसे संभाल लिया करते थें पर हां इतना जरूर पता है कि उन्होने हम दोनों बहनों के लिए कई चीजों का त्याग किया, मेरे पिता मेरे रोल मॉडल हैं। आज मैं जो कुछ भी हूं उनकी वजह से ही हूं।

यह भी पढ़ें : तेजी से वजन कम करना है तो आज ही से शुरू कर दें इन आहार का सेवन

आरती वर्मा का करियर

इतनी समस्याओं के बावजूद आरती वर्मा ने अपनी पढ़ाई पूरी की, कुकिंग का शौक होने के कारण उन्होने मुंबई के एसएनडीटी महिला विश्वविद्यालय से डायटेटिक्स फूड साइंसेज एंड मैनेजमेंट में एमएससी पूरा किया। जिसके बाद इस क्षेत्र में उन्हें 2 साल का अनुभव भी प्राप्त है।आरती इतने पर ही नहीं रूकी उन्होने डॉ. विमल मिश्रा (एमबीबीएस), डॉ. तुसार पाटिल (बीएएमएस), डॉ. गणेश बैटल और डॉ. राहुल खोंडे (एमडी) जैसे प्रसिद्ध डॉक्टरों के साथ भी काम किया है ताकि वो उनसे ज्ञान प्राप्त कर सकें और आगे चलकर अपने क्लाइंट के लिए एक बेहतरीन डाइटिशियन साबित हो सके। आरती मुख्य रूप से वजन घटाने, मधुमेह, बॉडी ब्लडिंग और पीसीओडी में अनुभव प्राप्त कर चुकी हैं, फिल्हाल वो मां वैष्णवी क्लिनिक, मुंबई में आहार विशेषज्ञ के रूप में काम कर रही हैं।

ऑनलाइन सेवा देने का कैसे आया विचार

आजकल दुनियाभर में तमाम तरह की बीमारियां फैल रही है, जिनमें से कुछ ऐसी हैं जिनके बारे में हम कुछ नहीं जाते हैं। मेरे दिमाग में बार बार एक ही सवाल आता था कि हम ऐसा क्या खाए जिससे हमें इन बीमारियों से बचने में मदद मिल सकती है। क्योंकि हममें से ज्यादातर लोग ऐसे हैं जो खाते हैं वो सोचकर नहीं खाते बस स्वाद व पेट भरने के लिए खाते हैं। लेकिन ये खाद्य पदार्थ हमारे शरीर को बीमारी से बचाने में कैसे मदद कर सकते हैं यह सिर्फ एक डाइटिशियन ही बता सकता है, आज के समय में मोटापा, मधुमेह, कैंसर, पीसीओ, पीसीओडी, कब्ज, अस्थमा सीवीडी, किडनी से संबंधित बीमारियां आम हो गई है।

लोगों के पास वक्त की कमी भी है जिसकी वजह से वो डॉक्टर या फिर किसी विशेषज्ञ से मिलने जाने में सक्षम नहीं हो पाते हैं खासकर इन छोटी छोटी चीजों के लिए। यही कारण है कि न जाने कितने लोग हर रोज इन बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं, लेकिन इन सबकी वजह है आपका आहार।

यह भी पढ़ें : गर्भावस्‍था के शुरूआती दिनों में कौन से आहार होते हैं स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक ?

इसलिए मैने एक ऑनलाइन सेवा देने का मन बनाया ताकि मैं अपने अनुभव से ज्यादा से ज्यादा लोगों को इन बीमारियों से दूर रखकर एक खुशहाल जिंदगी देना चाहती हूं। यदि हम स्वस्थ खाद्य पदार्थों का चयन करते हैं तो हमारा जीवन स्वस्थ होगा और किसी भी बीमारी से मुक्त होगा। मेरा उद्देश्य है कि मैं लोगों को स्वस्थ, संतुलित आहार योजना प्रदान करू ताकि उन्हें एक स्वस्थ जीवन शैली प्राप्त हो सके।

उपलब्धि

आरती वर्मा ने अपना जीवन लोगों स्वस्थ जिंदगी देने के लिए ही समर्पित कर दिया। इनका कहना है कि आजतक मेरे पास जो भी ग्राहक आए हैं और स्वस्थ जिंदगी में जी रहे हैं यही मेरी अचीवमेंट है। क्योंकि मेरे परामर्श द्वारा ग्राहक अधिक आश्वस्त होते हैं, प्रेरित होते हैं और ग्राहकों के चेहरे पर मुस्कान देखकर ही हमें सुकुन मिलता है।

Spark.Live पर दे रही हैं सेवा

आरती वर्मा अपने जॉब के साथ साथ Spark.Live से जुड़कर ऑनलाइन सेवाएं भी दे रही हैं। इस प्लेटफॉर्म के जरिए कई लोगों ने उनसे संपर्क किया और सभी आश्वस्त हुए हैं। आरती वर्मा ने कई मायूस चेहरों की मुस्कान वापस लौटाई है। Spark.live के जरिए वो कई लोगों की आहार संबंधी समस्याओं को दूर करने में सक्षम रही हैं। Spark.live पर जुड़कर आरती को एक और नया प्लेटफॉर्म मिल गया है जिससे वो अपने सपने को और लंबी उड़ान दे सकती हैं, लोगों को स्वस्थ जीवन देने का उनका उद्देश्य भी आसानी से पूरा हो सकता है।

प्रमाणित आहार विशेषज्ञ आरती वर्मा के साथ ऑनलाइन परामर्श के लिए यहां इस लिंक पर क्लिक करें

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *