Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » जीवनशैली और रहन-सहन » तेज पत्ते का गुण

तेज पत्ते का गुण

  • द्वारा
तेजपत्ता न सिर्फ भारतीय रसोईयों में खाने में स्‍वाद बढ़ाने के लिए उपयोग में लिया जाता है, बल्कि इस औषधी के कई आयुर्वेदिक फायदे है। जैसे कि शायद ही आप जानते होंगे कि तेजपत्ता तनाव भगाने के लिए जाना जाता है, इसके धुएं से टेंशन दूर होता है।
अगर आप रात को सोने से पहले कमरे में तेजपत्ते का धुआं कर लेते हैं तो आपका टेंशन दूर होने के साथ ही सांस संबधी और त्वचा संबधी बीमारियां दूर हो जाएंगी। तेजपत्ता जलाने से आपको और भी कई सारे फायदे मिलेंगे। लेकिन इसका धुआं करना कैसे है जानना पड़ेगा। तेज पत्ते का धुंआ घर में एक अरोमा की तरह काम करता है। जिसके कई फायदे है।


क्‍या खास है तेज पत्‍ते में?
यह एक जड़ी बूटी है जिसका रशिया के एक वैज्ञानिक ने अच्‍छी तरह से अध्‍यन किया था और पाया कि यह हमारे तनाव को दूर कर सकता है। तभी से तेज पत्‍ते को अरोमाथैरेपी के लिये इस्‍तमाल किया जाने लगा। इसके साथ यह त्‍वचा की बीमारियों और सांस से संबन्‍धित समस्‍याओं को भी ठीक करने के लिये जाना जाता है। यह टेंशन को दूर करता है

ऐसे करें इस्‍तेमाल
इसके लिए आपको सबसे पहले एक ताजा और सूखा तेजपत्ता लें। इसे एक कटोरे में रखकर घर के बाहर जलाएं। बाद में इसे घर के अंदर लाकर 15 मिनट के लिए रखें। तेजपत्ते की महक पूरे कमरे में फैल जाएगी। इससे आप रिलेक्स और रिफ्रेशिंग फील करेंगे। तेजपत्ता प्राचीन काल से बीमारियों को ठीक करने के लिए जाना जाता है।

रुम फ्रेशनर की तरह करता है काम
अपने कमरे या घर को खुशबूदार बनाए रखने के लिए लोग तरह-तरह के रूम फ्रेशनर लेकर आते हैं। महंगे इत्र भी छिड़काते हैं, लेकिन इन सभी का काम तेज पत्ता भी कर सकता है। इससे आसपास के बैक्‍टीरिया भी मर जाते है।

थकान दूर होती है
तेज पत्ते को जलाने से व्यक्ति की थकान दूर होती है, दिमाग शांत रहता है, दिमाग की नसों को आराम मिलता है, इतना ही नहीं इसका धुंआ जब सांस के माध्यम से हमारे अंदर जाता है तो हमारे प्रतिरक्षी तंत्र (इम्यून सिस्टम) को मजबूत बनाता है।

मिर्गी को दूर करने के लिए
तेजपत्ता एंटीइंफ्लेमेटरी होता है। मिर्गी के मरीजों को इसके धुएं के बीच रहना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि ये मिर्गी के रोग को जड़ से खत्म करने की क्षमता रखता है।

त्‍वचा के लिये
हमारी त्‍वचा के लिये भी अच्‍छा इस तेल में मिनरल्‍स, विटामिन्‍स और एंटीऑक्‍सीडेंट होते हैं। यह तेल हमारी त्‍वचा के लिये काफी जरुरी है, जिसे लगाने से त्‍वचा मुलायम, साफ और कीटाणुरहित बनती है।

कोकरोच दूर भगाता है
कोकरोच को भगाने के लिए भी इसका यूज किया जा सकता है। अगर आप कोकरोच से परेशान हैं, तो तेजपत्ते को जलाकर कमरे या किचन में रख दें। ये दूसरे हिट्स की तरह न होकर केमिकल फ्री है।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *