Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » कल्याण और आध्यात्मिकता » कुंडली के ग्रह दोषों को करना चाहते हैं दूर, तो दिन के अनुसार कर लें ये ज्योतिष उपाय

कुंडली के ग्रह दोषों को करना चाहते हैं दूर, तो दिन के अनुसार कर लें ये ज्योतिष उपाय

  • द्वारा
Kundli Dosh

वो कहते हैं न इंसान का जीवन जितना आसान दिखता है उतना होता नहीं है, क्योंकि आए दिन इसे नई नई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई सारे उतार चढ़ाव का सामना करने के बाद जब व्यक्ति बुरी तरह से परेशान हो जाता है तो वो निराश होने लगता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि हमारे जीवन में आ रही इन तमाम बदलावों का कनेक्शन कहीं न कहीं हमारे ग्रहों की चाल पर निर्भर करता है जिसका विवरण हमारी कुंडली में होता है।

जी हां हम भले ही कितनी भी कोशिश कर लें लेकिन ग्रहों के आगे हमारी सारी कोशिशें नाकाम हो जाती हैं। आपने कई बार ऐसा होते महसूस किया होगा कि हमारी जिंदगी में सब कुछ ठीक चल रहा होता है लेकिन उस दौरान अगर आपके ग्रह आपका साथ न दे रहे हों तो आप चाहें कितनी भी कोशिश कर लें हमें अपने जीवन में किसी ना किसी प्रकार की बाधाओं का सामना करना पड़ता है। दरअसल ये परेशानियां तब हमारे जीवन में आती हैं जब गलत स्थान पर बैठे ग्रहों की वजह से हमारी कुंडली में ग्रह दोष उत्पन्न होते हैं इसलिए आज हम आपको आपकी कुंडली में मौजूद ग्रह दोष व उन्हें दूर करने के कुछ आवश्यक उपाय बताने जा रहे हैं।

ज्योतिष शास्त्रों की माने तो अगर आपकी कुंडली में कई सारे दोष हैं और आप उनसे मुक्ति चाहते हैं तो इसके लिए आपको सिर्फ अपने माथे पर तिलक लगाकर भी उनसे छुटकारा पा सकते हैं। जी हां क्योंकि माना जाता है कि माथे पर तिलक लगाने से न सिर्फ आपको अपनी परेशानियों से छुटकारा मिलेगा बल्कि आपके मन में सकारात्मक प्रभाव भी उत्पन्न होंगे। ये काम आपको सप्ताह के सातों दिन करने होंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि सप्ताह के सातों दिन किसी न किसी ग्रह के लिए माने जाते हैं इसलिए इन सातों दिन में अलग-अलग ग्रह के अनुसार माथे पर तिलक लगाने से उनसे छुटकारा मिल सकता है। अब आपके मन में ये सवाल आ रहा होगा कि

इस उपाय को करने से दूर हो जाएंगे कुंडली के ग्रह दोष

सोमवार: इस दिन को चंद्र ग्रह से संबंधित माना जाता है, कहा जाता है कि ये दिन भगवान शिव का होता है इसलिए सोमवार के दिन आप सुबह के समय नहाने के पश्चात सफेद चंदन का तिलक लगाएं यदि आप ऐसा करते हैं तो इससे शुभ फल प्राप्त होता है और आपका मन एकाग्र बना रहता है।

मंगलवार: मंगलवार का दिन मंगल ग्रह से संबंधित होता है, यह दिन भगवान हनुमान जी के लिए समर्पित होता है। अगर आप मंगलवार के दिन किसी भी मंदिर में जाकर माथे पर लाल रंग का तिलक लगाते हैं तो आपकी कुंडली में मौजूद मंगल दोष का प्रभाव दूर हो जाता है।

बुधवार: यह दिन को बुध ग्रह से संबंधित होता है, यह दिन भगवान गणेश जी के लिए समर्पित है। ऐसे में आप बुधवार के दिन आप सुपारी को घिसकर इसका तिलक अपने माथे पर लगाने की मान्यता है कहा जाता है कि ऐसा करने से आपकी सारी मनोकामनाएं पूरी होती है।

गुरुवार: गुरूवार का दिन गुरु ग्रह के लिए माना जाता है, इसके साथ ही यह भगवान विष्णु जी का दिन भी माना गया है आप इस दिन सुबह के समय अपने सच्चे मन से केसर चंदन या हल्दी का तिलक अपने माथे पर लगाएं यदि आप ऐसा करते हैं तो इससे गुरु ग्रह के सारे दोष समाप्त हो जाएंगे।

शुक्रवार: इस दिन का संबंध धन की देवी माता लक्ष्मी के लिए है, इसलिए आप इस दिन धन की देवी माता लक्ष्मी जी की पूजा करने के पश्चात कस्तूरी का तिलक अपने माथे पर लगाएं यदि आप ऐसा करते हैं तो इससे धन से संबंधित समस्याएं दूर होती हैं।

शनिवार: शनिवार का दिन शनि ग्रह से संबंधित होता है इसलिए यह दिन शनि महाराज के लिए समर्पित होता है। कहा जाता है कि शाम के समय पीपल के पेड़ में दिया जलाने के पश्चात भस्म या विभूति का तिलक अपने माथे पर लगाना चाहिए यदि ऐसा किया जाए तो इससे कुंडली में शनि दोष दूर होता है।

रविवार: रविवार को सूर्य देव का दिन माना गया है, कहा जाता है कि इस दिन लाल चंदन या रोली का तिलक अपने माथे पर लगाना चाहिए ऐसा करने से सूर्य के दोष दूर होते हैं।

पंडित श्री टी आर शास्त्री वैदिक ज्योतिष में 45 वर्षों के अनुभव के साथ जन्म कुंडली पढ़ने के विशेषज्ञ भी हैं। ऐसे में ये इस तरह की समस्याओं में आपकी मदद कर सकते है। विस्तृत जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *