Read Home » हिंदी लेख पढ़ें » जीवनशैली और रहन-सहन » जीवन की उलझनों से निकलने के लिए बेहतर विकल्प दिखाते हैं मनोवैज्ञानिक काउंसलर

जीवन की उलझनों से निकलने के लिए बेहतर विकल्प दिखाते हैं मनोवैज्ञानिक काउंसलर

  • द्वारा
Psychological counselors

आज के समय में परफेक्ट शब्द का प्रयोग काफी होता है जाहिर सी बात है इसे आपने भी कभी न कभी जरूर सुना होगा। बात करें खासकर युवाओं की तो उन्हें सबकुछ परफेक्ट चाहिए होता है। चाहे वो करियर में हो, रिश्तों में हो या फिर जीवन के किसी भी क्षेत्र में, पर यह भी सच है कि सबकुछ परफेक्ट सिर्फ फिल्मों में ही देखने को मिल सकता है रियल लाइफ में ऐसा होना काफी मुश्किल है। यही वजह है कि आजकल मनोवैज्ञानिक काउंसलर का क्रेज बढ़ गया है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि कई बार तो लोगों को ये पता ही नहीं होता है कि वो जिस चीज को पाने के लिए प्रयास में लगे हुए है वो रास्ता उन्हें वहां तक पहुंचाएगा भी या नहीं ?

दरअसल लोग जब किसी काम को सच्चे मन से करना चाहते हैं तो उसके लिए मेहनत भी खूब करते हैं पर उन्हें सही मार्गदर्शक न मिलने के कारण वो पीछे रह जाते हैं। इसलिए जीवन में किसी भी लक्ष्य को पूरा करने के लिए सही मार्गदर्शन मिलना भी बेहद जरूरी है। अब यह भी सच है कि जरूरी नहीं कि आपकी सारी समस्याओं का हल या फिर लक्ष्य तक पहुंचने का रास्ता आपके घर के बड़े बुजुर्गों के पास ही हो।

आज आप ऐसे जमाने में जी रहे हैं जहां कुछ भी नामुमकिन नहीं है इसलिए इस तरह की समस्याओं से जूझ रहे लोगों को मनोवैज्ञानिक काउंसलर से मदद ले लेनी चाहिए। एक सवाल यह भी मन में उत्पन्न हो रहा होगा कि आखिर हमें कौन सी परिस्थितियों में मनोवैज्ञानिक काउंसलर के पास जाना चाहिए या हमें कैसे पता चलेगा कि मनोवैज्ञानिक काउंसलर की आवश्यकता है?

मनोवैज्ञानिक काउंसलर ऐसे करते हैं आपकी मदद

तो जान लें कि मनोवैज्ञानिक काउंसलर की आवश्यकता न सिर्फ परेशानी में, बल्कि जीवन की चुनौतियों का सामना करने के लिए खुद को तैयार करने के दौरान भी पड़ती है। जैसे-जैसे दुनिया आधुनिक हो रही है वैसे-वैसे इसका इसका दायरा और भी ज्यादा तेजी से बढते जा रहा है। क्योंकि जीवन में परेशानियां लगातार बढ़ती ही जा रही हैं। यही नहीं इसके अलावा पहले की अपेक्षा विकल्प बढ़ने से लोगों में असमंजस की स्थिति भी पहले से ज्यादा उत्पन्न हो रही है, जिससे लोगों की दिनचर्या प्रभावित हो रही है। देखा जाए तो इसका असर कहीं न कहीं आपके भविष्य पर भी जरूर पड़ता है।

ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि कुछ परेशानियां ऐसी होती है जो अंदर ही अंदर हमें खाए जाती हैं और उसका जिक्र हम घर में या अपने अभिभावकों से नहीं कर पाते हैं। आप चाहे तो किसी ऐसे एक्सपर्ट की मदद ले सकते हैं जो न सिर्फ इन समस्याओं से छुटकारा भी दिलाए बल्कि आपको आगे जीवन की सही राह भी दिखा सके। इस काम में मनोवैज्ञानिक काउंसलर काफी अहम भूमिका निभाते हैं क्योंकि इसके लिए वो काउंसलिंग की प्रक्रिया अपनाते हैं।

काउंसलिंग का क्षेत्र भी काफी व्यापक है, जैसे कि अगर आपको कोई बीमारी होती है तो आप उससे संबंधित जिस तरह की समस्या होती है उसके विशेषज्ञ डॉक्टर से मिलने जाते हैं। ठीक उसी तरह से काउंसलिंग के लिए भी होता है, अगर आपको लगता है कि आप भी अपने लाइफ में किसी समस्या से परेशान है या फिर आपको एक सही सलाहकार की आवश्यकता है तो आप येशा झावेरी से मदद ले सकते हैं।

येशा झावेरी एक प्रमाणित मनोचिकित्सक हैं जिन्हें इस क्षेत्र में तीन साल का अनुभव प्राप्त है। उन्होंने जय हिंद कॉलेज से मनोविज्ञान में बीए और एडिनबर्ग विश्वविद्यालय से काउंसलिंग स्टडीज में एमएससी किया है। इसके अलावा इन्होंने अल्बर्ट एलिस इंस्टीट्यूट, न्यूयॉर्क से संबद्ध RECBT में भी अध्ययन किया है।

यही नहीं इन्हें स्कॉटलैंड में काउंसलिंग एंड साइकोथेरेपी से प्रमाणपत्र भी प्राप्त हुआ है। इनके ऑनलाइन सत्र में आपको जीवन के सही मार्ग का पता चलेगा, अपने मन में दबे विचारों व भावनाओं को आप बाहर निकाल सकेंगे, जीवन का लक्ष्य निर्धारण और नए तरीकों की खोज पर काम करने की प्रेरणा भी मिलेगी जिससे आपकी न सिर्फ पुरानी समस्याएं खत्म होंगी बल्कि आपके अंदर आत्मविश्वास, गरिमा और शांति का प्रवाह होगा। ध्यान रहे आपके द्वारा कही गई हर बात पूरी तरह से गुप्त रहेगी। 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *